Trouble viewing this email? Click here.
ऑनलाइन संस्करण    ।    सदस्यता लें    ।    किसी मित्र को भेजें    ।    OSHO.com दौरा
 
इंटरनेशनल न्यूज़लेटर
अगस्त, 2013
 
मुख्य आलेख – दीवार पर लगे आईने, बता मैं हमेशा क्यों गिरती हूं
माह का ध्यान – पंख की तरह छूना
बॉडी धर्म – स्वास्थ्य समस्या है अगर आप बीमार हैं
इमोशनल इकोलॉजी – अभिभूत होना
साक्षात्कार – प्रेम सियारी
 
दीवार पर लगे आईने, बता मैं हमेशा क्यों गिरती हूं
मेरा साथी मुझसे ईर्ष्या करता है और ऐसा लगता है मानो वह मुझे अधिक महत्वपूर्ण बनाता है जितनी कि मैं नहीं हूं।

ईर्ष्या नहीं', मैं सोचता हूं वह महसूस करता है कि वह हीन है। तुम गलत शब्द इस्तेमाल कर रहे हो। वह सोचता है कि तुम एक देवी हो और वह मूल्यहीन। क्या यह ऐसा है? ( वह सिर हिलाती है) तब यह ईर्ष्या नहीं है …"
और पढ़ें>>
Share It: Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
पंख की तरह छूना
इसे दिन में कई बार करें।
अवधि: एक क्षण करना भी अच्छा होगा लेकिन एक ध्यान की तरह कम से कम 40 मिनट करना जरूरी है।
पहला चरण: "एक कुर्सी पर बैठकर या रेलगाड़ी में सफर करते हुए आंखें बंद करें और अपने हाथों को धीरे से आंखों पर रखें, दबाव न  डालें
शिथिल मन में विचार नहीं चल सकते, वे जम जाते हैं। वे तनाव के सहारे जीते हैं। तो जब आंखें स्थिर होती है …"
और पढ़ें>>
Share It: Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
प्रेम सियारी
इस समय संसार में सबसे सौभाग्यशाली व्यक्ति कौन है? उत्तर है, प्रेम सियारी, याने कि मैं। यह मेरे संन्यास का नाम है। इस समय मैं स्वर्ग में बैठी हूं: जोरबा द बुद्धा के स्विमिंग पूल के किनारे भोजन स्थल में…जो पूणे के ओशो इंटरनेशनल मेडिटेशन रिसार्ट का एक भाग है।
परिदृश्य ऐसा जैसे किसी गांव में, प्रकृति से घिरे हुए पर्वत श्रृंखला…"
और पढ़ें>>
Share It: Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
अभिभूत होना
अक्सर एक भाव मेरे हृदय और मेरे पूरे अंतरतम को घेर लेता है । वह गहन प्रेम में होता है और भय, संताप, दुख, असहायता और अवसाद में भी होता है।
सभी विभिन्न आवेगों में निश्चित ही बहुत समानता है: वह है भावावेशित हो जाना। यह चाहे प्रेम हो, चाहे यह घृणा हो…"
और पढ़ें>>
Share It: Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
स्वास्थ्य समस्या है अगर आप बीमार हैं
एक स्वस्थ व्यक्ति निरन्तर यह अनुभव नहीं करता कि वह स्वस्थ है, केवल बीमार व्यक्ति स्वास्थ्य में रुचि रखते हैं।
जिस क्षण तुम स्वस्थ होते हो…अपनी बीमारी से बाहर आते हो, तुम्हें स्वास्थ्य का अनुभव होगा, लेकिन जब यह तुम्हारा प्रतिदिन का स्वाभाविक अनुभव बन जाता है, प्रत्येक क्षण का…"
और पढ़ें>>
Share It: Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
ओशो ध्यान और मानसून मस्ती महोत्सव 2013
पुणे में जादुई मानसून की वर्षा ओशो इंटरनेशनल मेडिटेशन रिजॉर्ट के हरे-भरे परिसर को भिगोती है। नाचते हुए मोरों के बीच और चारों ओर चिहुंकते पक्षियों के साथ ओशो ध्यान विधियों की अधिक से अधिक गहराई और अधिक से अधिक ऊंचाई तक पहुंचने के लिए आएं। 11 से 15 अगस्त तक इस उच्च ऊर्जा के क्षेत्र में शमिल होने के लिए, दुनिया भर के सैकड़ों आगंतुक आ रहे हैं, आप भी सहभागी हो जाएं।
ओशो इंटरनैशनल मेडिटशन इंटरनैशनल रिज़ार्ट की ध्यान ऊर्जा और सौंदर्य अनेक नामी हस्तियों को यहां खींच लाता है।
दैनिक जागरण में आलेख – ओशो
प्रसिद्ध हिंदी दैनिक जागरण में ओशो का एक आलेख छपा है जो संकल्प के विषय में है। ओशो कहते हैं कि जिसके चित्त में विकल्प नहीं उठते वही संकल्प कर सकता है।संकल्प प्रकृति के खिलाफ नहीं होता वरन प्रकृति को समझकर उसके पार उठ जाना होता है। जब संकल्प पैदा होता है तो आप यह नहीं कहते कि 'मैं कर रहा हूं,' आप कहते हैं कि सब कुछ हो रहा है।
ओशो परिवर्तन टैरो विमोचन
 
मरौ हे जोगी मरौ   पंथ प्रेम को अटपटो
     
 
     
इस पुस्तक में गोरख पर बोलते हुए ओशो कहते हैं: ‘गोरख ने जितना आविष्कार किया मनुष्य के भीतर अंतर-खोज के लिए, उतना शायद किसी ने भी नहीं किया है। उन्होंने इतनी विधियां दीं कि अगर विधियों के हिसाब से सोचा जाए तो गोरख सबसे बड़े आविष्कारक हैं।’

गोरख के परम रूपांतरणकारी सूत्रों को आज की भाषा में उजागर करने के साथ-साथ, इस पुस्तक में ओशो द्वारा उत्तरित प्रश्नों में से कुछ:
  होश आत्मा का दीया है। वही ध्यान है, उसी को मैं मेडिटेशन कहता हूं। होश ध्यान है। निरंतर अपने जीवन के प्रति, सारे तथ्यों के प्रति जागे हुए होना ध्यान है। वही दीया है, वही ज्योति है। उसको जगा लें और फिर देखें, पाएंगे, अंधेरा क्रमशः विलीन होता चला जा रहा है। एक दिन आप पाएंगे, अंधेरा है ही नहीं। एक दिन आप पाएंगे, आपके सारे प्राण प्रकाश से भर गए। और एक ऐसे प्रकाश से, जो अलौकिक है। एक ऐसे प्रकाश से, जो परमात्मा का है। एक ऐसे
     
Share It:
Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
Share It:
Facebook  Google  Mixx  Windows Live
 
 
 
 
 
 
           
 
© 2013 ओशो इंटरनेशनल
कॉपीराइट & ट्रेडमार्क जानकारी
CONNECT
Facebook Google
Pinterest Google+
लोकप्रिय लिंक्स
ज़ेन टैरो / कुंडली
मैगज़ीन / मेडिटेशन
मेडिटेशन रिज़ॉर्ट / मल्टीवर्सिटी
लाइब्रेरी / शॉप
सदस्यता अद्यतन
सदस्यता रद्द
संपर्क करें
ऑडियो ग्रीटिंग भेजें
ओशो के बारे में सब कुछ
सूचना पत्र संग्रह
 
अगस्त 2013 न्यूज़लेटर
ओशो इंटरनेशनल
410 पार्क एवेन्यू, 15 वीं मंजिल, न्यूयॉर्क, एनवाई 10022