Quantcast

About Meditation? ये विभिन्न 'मार्ग' क्या हैं, जैसे योग, तंत्र, भक्ति इत्यादि?

<< Back

सभी विधियाँ जो मनुष्य को आत्म-बोध तक ले जाती हैं, अनिवार्यतः जागरुकता की हैं। उनके गैर अनिवार्य तत्व भिन्न हो सकते हैं।

मैनें योग, तंत्र, हसीदवाद, ताओ, ज़ैन, लगभग सभी संभव विधियों, जो मनुष्य ने परखी हैं, पर चर्चा की है। मैंने चाहा है कि तुम्हें उन सभी पथों का ज्ञान हो जिस पर चलकर मनुष्य ने उस सतय को ढूँढ़ने की कोशिश की है जो मुक्तिदायक हो - परंतु प्रत्येक विधि अनिवार्यत: जागरुकता है।

इसीलिए अब मैं केवल जागरुकता पर बल दे रहा हूँ।

अत: तुम जो कुछ कर रहे हो, जिस विधि का भी तुम अभ्यास कर रहे हो, इससे कोई अंतर नहीं पड़ता। इन सभी को विभिन्न समयों पर विभिन्न लोगों ने अलग-अलग नाम दिया है; परंतु वे सभी जागरुकता का ही अभ्यास हैं।

तो सार सूत्र केवल जागरुकता ही है जो तुम्हें अंतत: लक्ष्य पर ले जाती है। कोई बहुत सारे मार्ग नहीं है। वे एक ही मार्ग के विभिन्न नाम हैं, और वह है जागरुकता।


ओशो: द ओशो उपनिषद, #13

<< Back