Quantcast

What is Meditation? आनन्द में जीना

आनन्द में जीना

आनन्द में जीना

“जीवन का कोई उद्देश्य नहीं है। हैरान मत होना। उद्देश्य का पूरा विचार ही गलत है - यह लालच की उपज है।

“जीवन कोरा आनन्द है, एक खेल है, मस्ती है, हंसी है, बिना किसी भी उद्देश्य के, जीवन अपने आप में पूरा है, इसका कोई दूसरा छोर नहीं है। जिस क्षण तुम इसे समझ जाते हो, तुम समझ गए की ध्यान क्या है। यह अपने जीवन को आनंदपूर्वक, खेलपूर्ण, परिपूर्णता में, जीना है, अंत में बिना किसी उद्देश्य के, बिना किसी उद्देश्य की दृष्टि के, वहां किसी भी प्रकार का उद्देश्य नहीं। छोटे बच्चों की भांति समुद्र किनारे खेलते, सीप और रंगीन पत्थर इकट्ठे करते हुए”--किस उद्देश्य से?

"वहां कोई उद्देश्य नहीं है।"

Osho, Zen: Zest Zip Zap and Zing, Talk #11
पढ़ना जारी रखने के लिए: यहां क्लिक करें