Quantcast

Osho Osho On Topics दिव्यता

दिव्यता

लौकिक जीवन सतह पर होता है। इसका गहनता से आनंद लिया जाना चाहिए कि तुम इसमें पवित्रता, दिव्यता पाने लगो। दिव्य और कुछ नहीं बस इतना ही है कि इस क्षण में, इस दुनिया में, इस जीवन में, इस शरीर में गहरे से उतरना।