Quantcast

Osho Osho On Topics सच्चा प्रेम

सच्चा प्रेम

प्रेम स्थायी या अनंत नहींहै। ध्यान रहे, कवि जो कहते हैं वह सत्य नहींहै। उनकी कसौटियों को मत लो कि सच्चा प्रेम अनंत होताहै, और गैर सच्चा प्रेम क्षणिक होताहै--नहीं! इसके ठीक विपरीत बातहै। सच्चा प्रेम बहुत क्षणिक होताहै--लेकिन वह क्षण ऐसा होताहै ...ऐसा कि कोई उसके लिए अनंतकाल को छोड़ सकताहै, इसके लिए सारे अनंत काल को दांव पर लगा सकताहै। उस क्षण को स्थायी कौन चाहताहै? और स्थायीत्व इतना क्यों महत्वपूर्ण होना चाहिए?...चूंकि जीवन बदलावहै, प्रवाहहै; सिर्फ मृत्यु स्थायी होतीहै।