Quantcast

Osho Osho On Topics धार्मिक भ्रम

धार्मिक भ्रम

एक बाद याद रखो , मौन के अलावा, बाकी हर चीज तुम्हारी कल्पना मात्रहै--वह कितनी ही सुंदर क्यों न हो। सिर्फ तुम्हारे मौन को मेरा समर्थनहै, क्योंकि सिर्फ तुम्हारे मौन में तुम अस्तित्व के केंद्र के करीब होते हो। पूरी तरह मौन में, तुम स्वयं केंद्र बन जाते हो। लेकिन याद रखो सभी तरह की कल्पनाएं--सभी कल्पनाएं--सुंदर कल्पनाएं भी, ऊपर-ऊपर से दिव्य दिखने वाली कल्पनाओं को भी एक तरफ कर दो।