दुख क्यों है?
जीवन: आशा और निराशा के पार
जीने के दो ढंग
अकेला होना नियति है
जीवन का परम सत्य
मोक्ष की सीढ़ियां
Amrit Ki Disha--अमृत की दिशा
Main Mrityu Sikhata Hun--मैं मृत्यु सिखाता हूं
Apne Mahin Tatol--अपने माहिं टटोल
Dhyan Darshan--ध्यान दर्शन
Dhyan Ke Kamal
Jeevan Hi Hai Prabhu--जीवन ही है प्रभु
Sambhog Se Samadhi Ki Or -- संभोग से समाधि की ओर
Jeevan Rahasya--जीवन रहस्य
Jhuk Aayee Badariya Sawan Ki--झुक आयी बदरिया सावनकी
Maine Ram Ratan Dhan Payo--मैंने राम रतन धन पायो
Man Hi Pooja Man Hi Dhoop-- मन ही पूजा मन ही धूप
Piv Piv Lagi Pyas--पिव पिव लागी प्यास
न भोग, न त्याग—वरन रूपांतरण
आस्था का दीप--सदगुरु की आंख में
फरीद: खालिस प्रेम
नमो नमो हरि गुरु नमो
धर्म है वैयक्तिक अनुभूति
जिज्ञासा और अभीप्सा
sound dropout
नी सईयो मैं गई गुवाची
जगत उल्लास है परमात्मा का
कह यारी घर ही मिलै
आदमी अकेला है
सत्संग से निस्संगता
वह ब्रह्म है
सत्संग से निस्संगता
 

Email this page to your friend