ओशो ऑडियो पुस्तक - प्रवचन: Birahini Mandir Diyana Bar - बिरहिनी मंदिर दियना बार  – कह यारी घर ही मिलै  (mp3)

 

Availability: In stock

रु. 0.00
मोल  

Birahini Mandir Diyana Bar - बिरहिनी मंदिर दियना बार

Track #9 of the Series, Birahini Mandir Diyana Bar - बिरहिनी मंदिर दियना बार

सदियों-सदियों से देह के साथ दो अतियां जुड़ी हुई हैं—तिरस्कार या भोग। कभी तो हमने इसे वीरान श्महशान ही बना दिया है तपश्च।र्या के नाम पर अत्यापचार करके, या फिर इसे वेश्याै बना कर छोड़ दिया है, जैसे कि यह अपनी नहीं, किसी की भी न हो। रहस्यशदर्शियों ने इसी देह को कभी मंदिर के रूप में देखा है तो कभी अस्तिात्वा की सर्वश्रेष्ठ, कृति के रूप में। यारी उसी शृंखला की एक कड़ी हैं जो इस देह-मंदिर में दीया जलाने की बात करते हैं। पुस्त क का शीर्षक व प्रारंभिक पंक्तिदयां हैं—‘बिरहिनी मंदिर दियना बार’ अर्थात ‘ऐ बिरही लोगो! अपने घर में आत्मक-ज्यो ति जलाओ’। यह ज्यो्तिर्मय प्रतिमा नये मनुष्यि की प्रतिमा है जिसे ओशो ‘दिस वेरी बॉडी द बुद्धा’, ‘यही देह बुद्ध की मूरत’ कहते हैं।
 
 
विवरणचुनना... या सभी का चयन ऑडियोपुस्तकें शीर्षक लंबाई
 
Osho International
112
 
 
मूल्य पूर्ण श्रृंखला रु. 0.00 और अब खरीदने Tracks in Total – और अधिक के लिए आगे चलें
 
 

Email this page to your friend