ऑडियोपुस्तकें – चयनित प्रवचन
के रूप में भी जाना जाता है
प्रवचन २५ : जिन सूत्र

ओशो ऑडियोबुक - चुने व्यक्तिगत टॉक: मोक्ष की सीढ़ियां – Moksh Ki Sidhiyan (mp3)

 

Availability: In stock

रु. 0.00
मोल  

मोक्ष की सीढ़ियां – Moksh Ki Sidhiyan

Track #9 of the Series, Jin Sutra, Vol.2--जिन-सूत्र

"जब तुम जवान हो, जब जीवन की ऊर्जा भरी-पूरी है, तभी अगर तुम जीवन के दुख को देख लो और उससे छूट जाओ, भरी जवानी में त्याग का फल लग जाये, तो बड़ा शुभ है। क्योंकि तब ऊर्जा है।
 
 
ऑडियोपुस्तकें - विवरण प्रवचनमाला: जिन सूत्र, #२५
 
Osho International
"विचार और आचरण एक ही यात्रा के हिस्से हैं। विचार पहला कदम है; आचरण अंतिम। अगर कोई विचार आचरण न बनता हो तो इस बात का एक ही अर्थ होता है कि वह विचार तुम्हारा नहीं है। इसलिए कैसे आचरण बने? चिकित्सकों से पूछो!
 
 
मूल्य पूर्ण श्रृंखला रु. 0.00
 
और आगे ओशो कहते हैं:
"जब जीवन और श्रद्धा साथ-साथ चलने लगे, जब जीवन श्रद्धा के पीछे छाया की भांति चलने लगे, तभी जानना की श्रद्धा सच्ची है।

तो महावीर कहते हैं, श्रद्धा मौलिक है। श्रद्धा से जो ज्ञान आविर्भूत हो, वही ज्ञान है।
>>

प्रवचन शृंखला – On ज़ेन

 
 

Email this page to your friend